गरुड़ घंटी को मंदिर में जरूर पूजा करते समय बजाना चाहिए। ऐसा करने से सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह बढ़ जाता है। इसके साथ ही देवी-देवता भी अति प्रसन्न होकर सुख-समृद्धि, धन-संपदा का आशीर्वाद देते हैं।

मंदिर

शास्त्रों के अनुसार, मंदिर के बाद गरुड़ घंटी किचन में उस जगह जरूर बजानी चाहिए। जहां पर घड़ा, मटका या फिर पानी का पात्र रखा हो। ऐसा करने से पितर अति प्रसन्न होते हैं और सुख-समृद्धि का आशीर्वाद देते हैं।

किचन

आप घर में अलमारी, तिजोरी या फिर जहां पर घर रखते हो। वहां पर भी गरुड़ घंटी जरूर बजाएं। ऐसा करने से मां लक्ष्मी अति प्रसन्न होती हैं और दरिद्रता घर से बाहर निकल जाती है।

धन रखने वाली जगह

शास्त्रों के अनुसार, चौथी जगह की बात करें, तो गरुड़ घंटी प्रवेश द्वार में अंदर की ओर यानी घर के अंदर दरवाजे के पास जरूर बजानी चाहिए। ऐसा करने से सुख-समृद्धि, धन संपदा की प्राप्ति होती है।

मुख्य द्वार में अंदर ओर

आखिर में प्रवेश द्वार के बाहर यानी घर के मुख्य द्वार की चौखट को पार करके घंटी जरूर बजाएं। ऐसा करने से बुरी शक्तियों घर में प्रवेश नहीं कर पाएगी। इसके साथ ही मां लक्ष्मी और भगवान विष्णु की विशेष कृपा प्राप्त होती है।

प्रवेश द्वार के बाहर